एक दोस्त न मिला गम भुलाने के लिए


काफी है सपने दिल को बहलाने के लिए,
मोहब्बत करलो दिल को दुखाने के लिए,
चाहे भले रखना पड़े गम से वास्ता
एक दोस्त न मिला गम भुलाने के लिए !

Comments

Popular posts from this blog

मेरी जान के गोरे हाथों पे मेहँदी को लगाया होगा

दिल चाहता है ज़माने से छुपा लूँ तुझको !